26 June, 2008

कॉपी के पन्ने...२

तू दूर जाती है तो भूल जाता हूँ खुदा को भी
जाने किससे दुआ करता हूँ कि मुड़ कर देखो

आंसू नहीं तुम एक हसीं ख्वाब हो
कुछ देर मेरी पलकों पर ठहर कर देखो

किस कदर ज़ज्ब कर चुका हूँ तुझे मैं ख़ुद में
कभी मेरे करीब से गुज़र कर देखो

कहती हो मेरी आंखों में नशा सा है
मेरी आंखों में तुम हो जरा गौर कर देखो

मुझसे न पूछ मेरी जान मेरी वफ़ा का नाम
तन्हाई में अपने दिल से पूछ कर देखो

तुझसे भी खूबसूरत है तेरा नाम वफ़ा
न यकीं हो तो मेरी धड़कनें सुन कर देखो

4 comments:

  1. तू दूर जाती है तो भूल जाता हूँ खुदा को भी
    जाने किससे दुआ करता हूँ कि मुड़ कर देखो

    बहुत खूब।

    ReplyDelete
  2. तुझसे भी खूबसूरत है तेरा नाम वफ़ा
    न यकीं हो तो मेरी धड़कनें सुन कर देखो

    आफरीन ....आफरीन....

    ReplyDelete
  3. तुझसे भी खूबसूरत है तेरा नाम वफ़ा
    न यकीं हो तो मेरी धड़कनें सुन कर देखो
    vakai bhut khubsurat.badhai ho.

    ReplyDelete

Related posts

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...