10 June, 2009

२६ कि उमर...१६ का दिल( काश ६२ कि अकल भी होती :) )

२५ साल से २६ साल का होने में कितना अन्तर होता है? पूरी जिंदगी के हिसाब से देखें तो शायद कुछ भी नहीं, ये भी बाकी सालों की तरह एक उम्र की गिनती है। मगर महसूस होता है, की जिंदगी अब एक अलग राह पर चल पड़ी है।

मैंने जाने कब तो तय कर लिया था...की २५ पर बचपन को अलविदा कह दूँगी...यूँ तो बचपन उसी दिन विदा हो गया था जब माँ छोड़ कर गई थी...पर आज जब मैं २६ साल की हो गई तो वाकई लगा कि अब बचपन विदा ले चुका है।

और आप मानें या न मानें, हमें लगता है कि हम अब थोड़े ज्ञानी हो गए हैं :) (सुबह ताऊ की पोस्ट भी तो पढ़ी थी)।
जिंदगी बहुत कुछ सिखा देती है और मुझे लगता है कि जब से ब्लॉग पर लिखना और पढ़ना नियमित किया है, बहुत कुछ जानने सीखने को मिला है। ब्लॉग अक्सर लोग दिल से लिखते हैं, बिना काट छाँट के इसलिए ब्लॉग पढ़ना बिना किसी को जाने एक रिश्ता कायम करने जैसा है...आप किसी की खुशी, गम, जन्मदिन, बरसी सबमें शामिल होते हैं...कोई आपको अपना समझ कर लिखता है...आभासी ही सही, पर ब्लॉग के लोग भी परिवार जैसे हो जाते हैं। मैं कुछ ही लोगों से बात करती हूँ...पर रिश्ता तो उन सबसे है जिनका ब्लॉग मैं पढ़ती हूँ, या वो मेरा ब्लॉग पढ़ते हैं।

जिंदगी में ज्यादा जोड़ घटाव नहीं किया, लगा कि यही सब करती रही तो जीने का वक्त कहाँ मिलेगा...पर आँखें बंद कर के जिंदगी के कुछ बेहतरीन लम्हों को यार करती हूँ तो लगता है...मैंने जिंदगी जी है और बेहद खूबसूरती से जी है। शिकायत है तो बस खुदा से, बस इतनी छोटी सी शिकायत कि मेरे साथ मेरी खुशियों में मेरी माँ क्यों नहीं है...अभी जब मेरी जिंदगी का सबसे महत्वपूर्ण दौर शुरू हुआ है तो लगता है कि अपनी खुशियों को बाँटने के लिए उसको होना चाहिए था मेरे साथ।

पाने खोने का अजीब गणित होता है भगवान् का...इसके पचड़े में पढ़ने से कोई फायदा नहीं है...पिछले साल कुछ लोगों से फ़ोन पर बात हुयी मेरी, गाहे बगाहे होती भी रहती है, जैसे पीडी, कुश, डॉक्टर अनुराग, अपने फुरसतिया जी, ताऊ...और कुछ बेहतरीन लोगों से बात हुयी मेल पर...बेजी, सुब्रमनियम जी, गौतम जी, महेन जी...लगा कि अपने जैसे लोगों का दायरा उतना भी छोटा नहीं है जितना मैं हमेशा समझती आई थी। लम्हों के इस सफर में अगर घड़ी भर को भी कुछ दिल को छू जाता है तो अक्सर घंटों तक होठों पर मुस्कराहट रहती है। आप सब का शुक्रिया...कहीं कहीं आपको पढ़कर, समझ कर जिंदगी थोड़ी आसान और खूबसूरत महसूस हुयी है।



सुबह आँखें खोली मैंने
आसमान रंगों से लिख रहा था
जन्मदिन मुबारक...

हवायें गुनगुना रही थीं
सूरज थिरक रहा था उनकी धुन पर
खिड़की पर खड़ा था एक बादल
बाहर घूमने की गुज़ारिश लिए

इतरा के ओढ़ा मैंने
खुशबू में भीगा दुपट्टा
हाथों में पहनी इन्द्रधनुषी चूड़ियाँ
बालों को छोड़ दिया ऐसे ही बेलौस

ऑफिस वाले खींच कर
ले गए पार्टी मनाने
काम को बंक मारा
(भगवान् ऐसा बॉस सबको दे ;) )

तभी खिड़की से आया
कुश का बधाइयों का टोकरा
और अनुराग जी का भेजा बादल
दोनों के कहा...बाहर घूम के आओ

प्लान बन गया शाम को
लॉन्ग ड्राइव पर जाने का
थोड़ी आइसक्रीम, थोड़ा भुट्टा खाने का
और थोड़ा ज्यादा वक्त 'उनके' साथ बिताने का

२६ की उमर में आँखें ऐसे चमक रही है
जैसे १६ में चमकती थी
जिंदगी ने देखा मुस्कान को
काला टीका लगा के कहा "चश्मे बद्दूर"

40 comments:

  1. जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई ....खुश रहो यही दुआ है

    ReplyDelete
  2. 26 की उम्र मे तुम ऐसा बयान कर रही हो जैसे 66 की हो गई हो.अरे 36 मे भी दिल 16 का ही रहता है और 46.56,66,76,86 तक भी ये आदत जाती नही. बर्टेड रसेल ने 92 वर्ष की उम्र मे प्यार और शादी की थी. और वो सुना क्या चार्ल्स शोभराज का? बधाई .

    ReplyDelete
  3. 16

    26

    62

    के बाद
    अच्‍छा लगता है
    सदा

    6

    क्‍योंकि बचपन से बढ़ा

    कोई अपनापन नहीं है।

    ReplyDelete
  4. जन्मदिन मुबारक...

    ReplyDelete
  5. लीजिये हमें तो पहले ही पता था की डाक्टर साहिबा आज पार्टी में व्यस्त होंगी...सो पिछली पोस्ट पर ही बधाई ठोक आये थे.. ..मगर अब फिर ठोक रहे हैं...इसी आस में की शायद दो बार बधाई देने के बाद ..केक का चांस ज्यादा बन जाए..डाक्टर बड़े कंजूस होते हैं..ऐसा सूना है मैंने..झूठ है न....?

    ReplyDelete
  6. जन्मदिन की बहुत-बहुत शुभकामनाएं..

    ReplyDelete
  7. सबसे पहले जन्मदिन मुबारक। और हमारी टाफी कहाँ है? :-)

    ReplyDelete
  8. हैप्पी बर्थडे रहेगा हमारी तरफ से भी :)

    ReplyDelete
  9. c/kkbZ] gekjh Hkh Lohdkj djsa A

    ReplyDelete
  10. बधाई, हमारी भी स्वीकार करें ।

    ReplyDelete
  11. जन्मदिन की हार्दिक बधाई.
    ज्ञान को लेकर कहीं गई बात बिलकुल ठीक है....:-)

    ReplyDelete
  12. जन्म दिन पर बहुत बहुत बधाइयाँ
    बचपन को यूँ अलविदा मत कहियेगा ज्ञानी होने के बाद भी कभी कभी नादाँ बने रहने में बड़ा सुख होता है आखिर दुनिया में कुछ ज्ञान को किनारे रख कर भी देखना चाहिए न

    ReplyDelete
  13. Many Happy Returns of the Day Puja & Many More ...
    Hope you enjoyed your special day ..
    warm regards,
    from
    - Lavanya

    ReplyDelete
  14. वैसे तो आप हमेशा ही समझदारी की बाते करती हैं पर आज कुछ ज्यादा ही समझदारी भरी बाते आप अनायास ही लिख गई हैं. बातों से आपने ६२ को छू ही लिया आज.

    पर मेरी एक सलाह...कभी मन को ६२ का मत होने देना..१६ का ही रहे तो बढिया.

    मेरी तरफ़ से हार्दिक शुभकामनाएं. सुख शांति और ऐश्वैर्य प्राप्त करो.

    रामराम.

    ReplyDelete
  15. बधाई! अकल ६० के ऊपर की नहीं होनी चाहिये। मनई सठिया जाता है!

    ReplyDelete
  16. जीवन के एक और बसंत को देख लेने के लिए बहुत-बहुत बधाई और अगले बसंत के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं. लिखते रहिये और हमें भी एहसास कराते रहिये कुछ अपने महसूस किये हुए पल, कुछ अपने निजी और नितांत पल.

    ReplyDelete
  17. हार्दिक शुभकामना।

    सादर
    श्यामल सुमन
    09955373288
    www.manoramsuman.blogspot.com
    shyamalsuman@gmail.com

    ReplyDelete
  18. "जनम दिन तुम्हार मिलेंगे लड्डू हमको" ये तो केवल गाना ही है. झूट मूट के लड्डू खा लेते हैं. Many happy returns of the day. God ब्लेस यू

    ReplyDelete
  19. जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई

    Happy B'Day To You Puja !!

    ReplyDelete
  20. जन्मदिन की बहुत-बहुत शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  21. ताऊ जी 16 का ही क्‍यों रहे मन
    जबकि 6 में भरे हैं मासूमियत के गुण
    कहा जाता है जिसे बचपन
    बौना है उसके आगे पचपन ...
    छप्‍पन, सत्‍तावन, अठ्ठावन ...

    ReplyDelete
  22. हेप्पी बड्डे जी :)
    वीनस केसरी

    ReplyDelete
  23. happy waala b;'day pooja ji... sach aap to youn keh rahi thi jaise kitni badi ho gayi hon aap... aapki zindagi humesha khushiyon se bhari ho yahi dua hai....:)

    ReplyDelete
  24. जय हो। फ़िर से मुबारक जन्मदिन!

    ReplyDelete
  25. जन्म दिन की बधाई...
    आपकी लेखनी ने इतना दीवाना बनाया कि अब तो बंगलुरू या फिर में दिल्ली में मिलना ही पड़ेगा। अपनी पुरानी गलियों में आएं तो बताने का जोखिम जरूर उठाइएगा। मिलना अच्छा लगेगा। कम से कम मुझे तो..आपकी लेखनी का रहस्य भी जानना है।

    ReplyDelete
  26. चश्मेबद्दूर!!!!
    लेकिन असल जिंदगी वही है उसी मोटरसाइकिल पे "उनके" साथ....ये वर्चुअल वर्ल्ड नहीं....

    ReplyDelete
  27. जन्मदिन की बहुत-बहुत शुभकामनाएं !!!!

    ReplyDelete
  28. जन्म दिन की बहुत सारी शुभकामानाऎ.

    ReplyDelete
  29. अब साल मत गिनिये !
    बस दिन को याद रखिये !

    दिल और दिमाग में सोलह को फिक्स कर दीजिये !
    जीवन हमेशा उमंग से भरा रहेगा !!

    स्नेह व शुभकामनाएं !!!

    आज की आवाज

    ReplyDelete
  30. अरे कैसा संजोग है...! आज मेरे चिट्ठे का जन्मदिन और कुछ इसी अंदाज़ में मैने भी लिखी है अपनी पोस्ट लोगो को शुक्रिया देते हुए...!

    फिलहाल जन्मदिन की बहुत बहुत शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  31. Thoda late hi sahi lekin janamdin ki hardik shubhkaamnaye...

    ReplyDelete
  32. देर हो गयी शिफ़्ट ड्यूटी के चक्करों में। तो क्या हुया बधाई देने आ तो गये।

    बहुत बहुत शुभकामनायें। आपका नाम हमने यहाँ शामिल कर लिया है

    ReplyDelete
  33. ohh Wish u a very happy birthday B'day girl, bahut din hue the blog pe comment kiye hue :) may god giv u evrthng u desire god bless you keep writing

    ReplyDelete
  34. janamdin bahut bahut mubarak ho pooja.doc saab ki baat shai hai,asal zindagi wahi hai bike par:).

    ReplyDelete
  35. HEYYYYYYYYYYYY! Happy Birthday !!!

    Its always a pleasure to read your blog... Thanks for that !

    ReplyDelete
  36. Many many happy returns of the day Pooja!! Wasie abhi do mahine pahle main bhi 26 ka hua tha.. nice to know that you are following me....

    Just kidding.. Have a blast and enjoy..

    ReplyDelete

Related posts

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...