03 December, 2009

इश्क की सालगिरह

"मुझे तेरी स्माइल सबसे अच्छी लगती है"
"मुझे भी"
--------------------------
"तू रोज रोज और सुंदर कैसे होती जाती है, बहुत प्यारी लग रही है, नज़र लग जायेगी, इधर आ दाँत काटने दे"
--------------------------
"मैं मोटी हो गई हूँ क्या?"
"नहीं रे कितनी क्यूट है, टेडी बेअर जैसी, खरगोश क्यूट गालों वाली"

--------------------------
"सब्जी में नमक ज्यादा है न? हमको लगता है दो बार डाल दिए हैं"
"नहीं रे, झोर में ज्यादा है थोड़ा, पर आलू ठीक है, आलू निकाल के खा रहा हूँ न पराठा के साथ, बहुत अच्छी बनी है"
--------------------------
"रबड़ी जल गई है रे थोड़ी सी"
"नहीं रे, सोन्हा लग रहा है बहुत अच्छा स्वाद आया है।
--------------------------
--------------------------
मैंने सीखा:
उसे सबसे ज्यादा प्यार तब उमड़ता है जब मैं अच्छा खाना बनाती हूँ...लोग ऐसे ही नहीं कहते कि दिल तक का रास्ता पेट से होकर जाता है :) [मेरे दिल का रास्ता शायद किसी शौपिंग माल से होकर जाता है]

रात को बालकनी में खड़े होना और कुछ न कहना एक ऐसा अहसास होता है जो शायद बिना महसूस किए समझाया नहीं जा सकता।

रात को झगड़ा करके, रूठ के कभी सोना नहीं चाहिए :) भले देर हो जाए, खूब सारा मन भर झगड़ लेना चाहिए, नींद अच्छी आती है।

खाने में राहर की डाल, भात और आलू की भुजिया से अच्छी चीज़ अभी तक इजाद नहीं हुयी है।

पीने का मजा तभी आता है जब सारे लोग टल्ली होने की औकात रखते हों...जो बेचारा होश में है उसकी हालत अगली सुबह पीने वालों से ख़राब होती है :)

हालांकि सिगरेट से बहुत सी यादें जुड़ी हैं, पर सिगरेट नहीं पीनी चाहिए।

घर में कपड़ों का बटवारा नहीं होना चाहिए, जिसकी इच्छा हो दूसरे की धुली हुयी टी शर्ट मार के पहन सकता है।

जब भी रात को बारिश हो, ड्राईव पर जरूर जाना चाहिए।

कभी कभी ऑफिस बंक कर पिक्चर देखने का मजा ही कुछ और होता है।

नौ से बारह हिन्दी फ़िल्म देखना जाना बेकार है...गोल्ड क्लास में हमेशा नींद आ जाती है :)

------------------------
------------------------
वक्त बहुत जल्दी गुजर जाता है, कभी तो लगता है जैसे जाने कितने दिनों से जानती हूँ तुम्हें, और कभी लगता है कि अभी कल ही तो मिली थी और इतना वक्त गुजर गया मालूम भी नहीं चला।

पहली नज़र का प्यार वाकई होता है, aaj भी सब सुबह सुबह तुम्हें देखती हूँ सबसे पहले, तुमसे प्यार हो जाता है। :)

"हर इंसान को जिंदगी में एक बार प्यार जरूर करना चाहिए, प्यार इंसान को बहुत खूबसूरत बना देता है"

37 comments:

  1. सही कहा आपने हर इंसान को ज़िंदगी में एक बार प्यार ज़रूर करना चाहिए और जिसे पहला प्यार नसीब ना हुआ हो वा दूसरा भी कर सकता है...ऐसी कोई पाबंदी नही है :)

    ReplyDelete
  2. रात को झगड़ा करके, रूठ के कभी सोना नहीं चाहिए'
    बहुत सही. प्यार तो प्यार है. जिसे प्यार हो जाये उसे नमक कम या ज्यादा का पता चलेगा भी कैसे.
    बहुत सुन्दर

    ReplyDelete
  3. रात को झगड़ा करके, रूठ के कभी सोना नहीं चाहिए :) भले देर हो जाए, खूब सारा मन भर झगड़ लेना चाहिए, नींद अच्छी आती है।

    आज के मुद्दे कल तक ना ले जायें तो जिंदगी खुशनुमा रहती है..

    बधाई आपको..

    ReplyDelete
  4. ये कुछ ज्यादा हो गया... जल्दी लौटूंगा...

    ReplyDelete
  5. ओह जिंदगी .......

    ..
    कभी कभी एक गुलाब सोने की अंगूठी से भी ज्यादा असर रखता है ...............
    सड़क के बीचो बीच गाडी रोककर चिल्लाकर "आई लव यू " कहने से प्यार ओर बढ़ता है .....
    शाम की बनायीं एक चाय कभी कभी किसी रेस्त्रोरेंट के डिनर से भी पुरजोर असर रखती है ......
    बारिशे कल भी खूबसूरत थी ....आज भी है ......कल भी रहेगी......उसके पास ख़ूबसूरती का आजीवन पेटेंट है......
    क्रिकेट मेच देखते हुए चौके पे सीटी बजानी चाहिए ....इससे बाद जली रोटी से तडके वाली दाल का स्वाद ओर धांसू हो जाता है....
    कभी कभी शुक्रिया कह देना चाहिए .....इससे प्यार की मेंटेंस बनी रहती है .....
    गोलगप्पे ...चावल में नमकीन ......रात की रोटी का सुबह परांठा .....शाम को थोड़ी सी कटोरी में मिलाये हुए चावल राजमा बांटकर खाने से ...प्यार सहवाग की बेटिंग की माफिक अपना रन रेट रखता है .....
    सबसे अच्छा सरप्राइज़ ऑफिस पहुंचकर पिक करके चाइनीज़ खाना है ............
    खैर सेंटी न होकर .....
    सालगिरह मुबारक........
    ओर हाँ कभी कभी लॉन्ग ड्राइव पे एकाध सिगरेट की छूट होनी चाहिए .......

    ReplyDelete
  6. "हर इंसान को जिंदगी में एक बार प्यार जरूर करना चाहिए, प्यार इंसान को बहुत खूबसूरत बना देता है"

    बिल्कुल करना चाहिये पर जब उस प्यार की परत आंखों पर से उतर जाती है, तब ज्यादा नमक बहुत ज्यादा लगता है। और मोटी बहुत मोटी लगने लगती है यह सार्वभौम सत्य है।

    ReplyDelete
  7. टुकडए टुकडए में पूरे फलसफे जिन्दगी के..

    वैसे राहर की दाल, भात और आलू की भुजिया...फिर तो क्या कहने!! :)

    ReplyDelete
  8. सालगिरह की बहुत बहुत बधाई आप दोनों को.... दोनों का प्यार हर दिन भारत की आबादी जैसी बढती रहे... :-)

    ReplyDelete
  9. bahut bhadiyaa, pyaar ka itna sajiv chitra...

    salgiraah ki shubkamnayein

    ReplyDelete
  10. मुझे आपका ब्लॉग बहुत अच्छा लगा! शादी की साल गिरह आप दोनों को बहुत बहुत मुबारक हो और मेरी शुभकामनायें आप दोनों के लिए!
    मेरे ब्लोगों पर आपका स्वागत है!

    ReplyDelete
  11. :) Ishq ki salgirah bahut bahut mubarak ho..घर में कपड़ों का बटवारा नहीं होना चाहिए, जिसकी इच्छा हो दूसरे की धुली हुयी टी शर्ट मार के पहन सकता है।

    ye me sath aksar hota hai :D dhota hai hu aur bhai log pehen ke chal dete hai hamesha :D bahut pyari post

    ReplyDelete
  12. सोच रहा हूँ.. क्या सबकी ज़िन्दगी एक जैसी होती है.. ?

    खैर! शादी की सालगिरह मुबारक हो..

    ReplyDelete
  13. डॉ. साब के कमेन्ट भी पोस्ट से कम नहीं होते... बहोत बढ़िया...

    ReplyDelete
  14. हा हा...आप जरूर बिहार की हैं(आज पहली बार इधर का रुख किया,अभी प्रोफाइल चेक कर कन्फर्म कर लेती हूँ)...एक बार कई रिश्तेदारों के साथ कलकत्ता शादी में गयी थी ...खाने का बहुत बढ़िया इंतज़ाम था..पर ४ दिन तक स्वादिष्ट व्यंजन खा कर सब परेशान हो गए थे..लौटते समय सबकी जुबान पर बस एक ही चीज़ कब घर पहुंचे और दाल भात,भुजिया खाने को मिले..
    BTW Many Many Happy Returns of the Day...Have a long, happy, funfilled, rocking life ahead

    ReplyDelete
  15. प्यार इंसान को बहुत खूबसूरत बना देता है .. और
    खूबसूरत बातें करने वाला भी.... :-)

    ReplyDelete
  16. congratulation!

    Just go through with your blog by searching Dr.Anurag blog.

    Achi abhivaktiyi.. Kam shabh ma jyada kuch.. keep it up...

    Regards,
    Vikas
    blog ankhaee

    ReplyDelete
  17. congratulation!

    Just go through with your blog by searching Dr.Anurag blog.

    Achi abhivaktiyi.. Kam shabh ma jyada kuch.. keep it up...

    Regards,
    Vikas
    blog ankhaee

    ReplyDelete
  18. शुभकामनायें स्वीकार करें

    बहुत प्यारी पोस्ट है

    प्रणाम

    ReplyDelete
  19. कितने सारे टिप्स हैं यहाँ ! अपने जैसा भासा (हाँ हाँ सही पढ़ा भासा) लगा यहाँ... हाँ हाँ उधर का ! गंगा के दोनों पार का... इतना समझा के बिहार के लोग बोलते हैं.. नय रे बाबू !

    अब बुझाया कहे हमारे कबिता में स्त्रील्लिंग-पुल्लिंग का लफड़ा होता है... कहे की हमारे तरफ ट्रेन भी चलता है, बस भी चलता है और चोट भी लगता है... मूवी भी अच्छा होता है...नय रे बाबू !

    ReplyDelete
  20. :) ..waah..har ek line pe muskurayein baigar nahi rha gya :) amazing ...

    ReplyDelete
  21. :) :) :) :) :)
    jalan ho rahi hai kisi ki kismat se.. :P

    ReplyDelete
  22. wah wah ekdum mast......dil ki baat hai pooja ji....yahi to life hai.....shaadi ki salgriha mubark ho .....

    yahi meri life ka funda hai ..apne batay dunia ko thak u very much....

    ReplyDelete
  23. नज़र न लगे किसी की,सालगिरह मुबारक़ हो।वैसे आपकी सलाह पर विचार कर रहा हूं,हालांकि समय बहुत आगे निकल गया है।

    ReplyDelete
  24. सारी जिंदगी का फलसफा चाँद पंक्तियों में ही बयां कर दिया आपने. ईश्वर प्रेम के इस अहसास को सदा यूँही जवां बनाए रखे.

    ReplyDelete
  25. राहर का दाल, भात और आलू की भुजिया...और जिंदगी ते सब फ़लसफ़े....

    तुम्हारी पोस्ट-- लेकिन मैं और संजीता थे इसमे!

    :-)

    तुमदोनों को खूब-खूब-खूब शुभकामनायें!!!

    ReplyDelete
  26. khoob shubhkaamnaayein..!!

    kabhi sirf haanth thaam dhalta suraj dekhte dekhte..jab kandhon par dhulak jaati hoon... to us ek pal mein fir se pyase umad jata hai..

    ReplyDelete
  27. एक बात तो पक्की है रहर की दाल, भात और आलू की भुजिया से अच्छी चीज़ अभी तक इजाद नहीं हुयी है।

    ReplyDelete
  28. सबसे पहले इशक की सालगिरह की मुबारकबाद आप दोनों। केक को देखकर मुँह में पानी आ गया जी। आपने कई प्यारी प्यारी चीजें लिख दी।
    "हर इंसान को जिंदगी में एक बार प्यार जरूर करना चाहिए, प्यार इंसान को बहुत खूबसूरत बना देता है"

    इसे तो हम भी मानते है जी।

    ReplyDelete
  29. मुबारका मैडम... केक दो क्यू? :) उसका वाला तुमने पूरा खाया.. और तुम्हारा वाला उसने पूरा... ये सही है :)

    भगवान आप दोनो को ऐसे ही खुश रखे..हमेशा!!

    ReplyDelete
  30. geting envy n feeling depressed coz m feeling like a candle in front of sun.

    ReplyDelete
  31. Hell your all thing is to good is beter to any other blog. I like it becouse you are a script writer and i also.
    Thankyou
    chander singh chouhan
    Ajmer (rajasthan)
    mob: 09214552857
    email. csc.chouhan@gmail.com,info.chander@gmail.com

    ReplyDelete
  32. खुद ईश्क का दिल आ गया है आज अपने मीत पर और वो खुमारी में 'वो कुछ' कह जा रहा है जो कभी कह नहीं पाता सरपट..!
    कुछ एहसास कितनों लिख दो अपने पुरे लिबास में कभी हाज़िर नहीं होते..!
    पर कुछ लोग यूँ लिखते हैं कि--एक एहसास से कई एहसास के आर-पार छू लेते हैं..जी हाँ; कुछ लोग..!
    मुझसे थोड़ी जाहिली हुई है..एक अच्छा ब्लॉग जानता तो था पर जाने क्यूँ दौड़ लगा नहीं पाया..एहसास यूँ ही थोड़े मिल जाते हैं..!
    इस पोस्ट को बार-बार पढ़ रहा हूँ..कुछ between the lines भी लिख दिया है आपने...उन्हें सोच रहा हूँ कहीं रोप दूँ किसी आगत कविता में ...!
    साथ हर क्षण 'साथ' महसूसना इतना सरल भी नहीं ना..बौराए मन को हमेशा कुछ नया चाहिए..गिलास बार-बार धुलने से शराब नयी तो नहीं हो जाती...खुमारी ईश्क की कैसे बची रहती है हर सहर..!
    आपको लेखन की भी बधाई और जीवन की भी बधाई..सब कुछ को बाँध रख पाती हैं आप..मेरी शुभकामनाएं स्वीकारिये...!!!
    ईश्क की सालगिरह मनाते रहिये साल दर साल..रोज हर रोज..!!!

    ReplyDelete
  33. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  34. कतरा कतरा मिलती है ...कतरा कतरा बहने दो ...ज़िंदगी है ...:)....ज़रा देर से ,बहुत मुबारक pooja

    ReplyDelete
  35. thoda der se shi lekin hamari or se aapko shadi ki salgirah per bahut-bahut subhkamnaye, bahut acchi abhivayaki hai aapki vakai pyar insan ko bahut khubsurat bana deta hai....

    ReplyDelete

Related posts

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...